Blog पर Contact Form बनाने में होने वाली गलतियां

Blog पर Contact Form बनाने में होने वाली गलतियां

Blog पर Contact Form बनाने में होने वाली गलतियां – Contact Form का प्रयोग करके आप जान सकते हैं कि आपके पाठक क्या चाहते हैं। इसका प्रयोग इसलिए किया जाता है ताकि Blog सम्बंधित किसी भी जानकारी के लिए पाठक आपसे Contact कर सके। इसका प्रयोग अतिथि लेखों, प्रेस विज्ञापतियों और भी इसी प्रकार की सूचनाओं आदि को प्राप्त करने में होता है। इसलिए Contact Form एक बहुत उपयोगी सहयोगी की भाँति होता है।

WordPress Blog के लिए बहुत से Plugins काम में आते हैं। जिनसे में पाँच प्रमुख नीचे दिये जा रहे हैं:

  1. कॉन्टैक्ट फ़ार्म 7 (Contact Form 7)
  2. फ़ास्ट सिक्योर फ़ार्म (Fast Secure Form)
  3. कस्टम कॉन्टैक्ट फ़ार्म्स (Custom Contact Form)
  4. विज़ुअल फ़ार्म बिल्डर (Visual Form Builder)
  5. कॉन्टैक्ट मी (Contact Me)

इन WordPress Plugins का प्रयोग सेल्फ़होस्टेड WordPress के साथ ही किया जा सकता है किंतु इसके अतिरिक्त भी कई तृतीय पार्टी सेवाएँ हैं जो Contact Form उपलब्ध करवाती हैं। जिनका प्रयोग आप किसी भी ब्लॉगिंग प्लेटफ़ार्म के साथ जैसे WordPress, Blog और टम्बलर के साथ कर सकते हैं। ये पाँच प्रमुख सेवाएँ नीचे दी जा रही हैं।

  1. वुफ़ू (Wufoo)
  2. 123 Contact Form (123ContactForm)
  3. कॉन्टैक्टर (Kontactr)
  4. ईमेल मी फ़ार्म (EmailMeForm)
  5. रिस्पॉन्सो-मैटिक (Response-o-matic)
  6. Micro Niche Blogging क्या है?

5 Contact Form गलतियां

हम नीचे उन पाँच प्रमुख Contact Form ग़लतियों की चर्चा कर रहे हैं जिन्हें हर हाल में टालना चाहिए।

अत्यधिक या अनावश्यक जानकारिया माँगना

अपने पाठकों से सदैव उतनी ही जानकारी माँगनी चाहिए जितनी की आवश्यकता हो। यह इस पर निर्भर करता है कि वे आपसे क्या जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं।

यदि पाठक आपके Blog के बारे में जानने को इच्छुक है तो उसके नाम और ईमेल अतिरिक्त किसी चीज़ की आवश्यकता नहीं होती है।

यदि पाठक किसी विशिष्ट विषय पर जानकारी ले रहा है तो हमें उसे विषय का विकल्प उपलब्ध करवाना चाहिए।

पाठकों से अनावाश्यक जानकारियाँ नहीं माँगनी चाहिए। इससे वे चिढ़ जायेंगे और Contact Form का प्रयोग किये बिना ही Blog से लौट जायेंगे। इस प्रकार संचार सिर्फ़ एक तरफ़ा हो जायेगा या वे आपकी पोस्ट पर कमेंट करके जानकारी लेने का प्रयास करेंगे। यदि वह कमेंट पोस्ट के अतिरिक्त किसी अन्य विषय पर हुआ तो आपको उस कमेंट को हटाने की आवश्यकता होगी।

भ्रमित करने वाले शीर्षक प्रयोग करना

बहुत से Blog अपने पाठकों को प्रभावित करने के लिए नये प्रयोगों के तहत Contact Form में अनोखे शीर्षक डालने का प्रयास करते हैं। जिससे सामान्य पाठक आपकी बात का अर्थ स्पष्ट नहीं समझ पाते हैं और भ्रमित होकर Contact Form का प्रयोग करने में Disabled रहते हैं। जिसके कारण आपका उनसे Contact नहीं हो पाता है। इसलिए Contact Form के शीर्षक सदैव ही सरल और स्पष्ट होने चाहिए।

बहुत छोटे-छोटे Questions करना

आपसे जो जानकारियाँ प्राप्त कर रहा है आपको उसके बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए। इसलिए उतने विकल्पों का अवश्य प्रयोग कीजिए जिससे कि Contact करने वाले पाठक के बारे में सारी जानकारी आपको उपलब्ध हो जाये। Blog सम्बंधित जानकारियों या किसी विशेष टिप्पणी के लिए पाठक से मात्र उसका नाम और ईमेल पता माँगना ही उचित माना गया है।

लम्बी-लम्बी शर्तें रखना

बहुत से Blog Contact Form में भी शर्तों का प्रयोग करते हैं यह कोई ग़लत बात नहीं है लेकिन Contact Form की शर्तें बहुत लम्बी नहीं होनी चाहिए। यह शर्तें बिल्कुल संक्षिप्त और स्पष्ट होनी चाहिए। इसमें सिर्फ़ उन्हीं बिंदुओं को Include कीजिए जिन्हें आप Contact करने वाले को मनवाना चाहते हैं क्योंकि आज कल शर्तों में लम्बी कहानियाँ कोई नहीं पढ़ना चाहता है।

उत्तर देने का समय निर्धारित न करना

जब आपसे Contact करने वाले पाठकों को यह पता नहीं होता है कि उन्हें अपने questions का उत्तर कब मिलेगा तो वे आपको बार Contact Form से वही जानकारियाँ बार-बार माँगते रहते हैं। इसलिए पाठकों यह बताइए कि आप कितने दिनों में किसी questions का उत्तर देने में सक्षम हैं और उन्हें स्पष्ट जानकारी दीजिए आपके पास रोज़ बहुत से questions आते हैं इसलिए उनके questions का उत्तर उन्हें थोड़े समय के बाद ही मिलेगा। इससे आपको और साथ ही पाठक को भी सुविधा रहती है।

About the author

HostingWala

HostingWala: Provide Web Hosting Related Tutorials Like Free Web Hosting, Domain, Search Engine Optimization (SEO), (SMO) Digital Marketing

Leave a Comment